महाराष्ट्र बजट, जैन न्यूज़

मुंबई-महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम और वित्त मंत्री देवेंद्र फडणवीस ने गुरुवार 9-3-2023 को वित्त वर्ष 2023-24 के लिए राज्य का बजट पेश किया। यह एकनाथ शिंदे सरकार का पहला बजट हैं।डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने बुधवार को विधानसभा में साल 2022-23 के लिए महाराष्ट्र आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया था। इसमें अनुमान लगाया गया हैं कि साल 2022-23 के दौरान राज्य की अर्थव्यवस्था के 6.8 प्रतिशत और भारतीय अर्थव्यवस्था के 7.0 प्रतिशत की रफ्तार से बढ़ने की उम्मीद हैं। वित्त वर्ष 2022-23 में राजकोषीय घाटा 2.5% रहने की उम्मीद जताई गई हैं। इसके अलावा राज्य के लिए कृषि और संबद्ध गतिविधियों के क्षेत्र में 10.2 प्रतिशत, उद्योग क्षेत्र में 6.1 प्रतिशत और सेवा क्षेत्र में 6.4 प्रतिशत की वृद्धि होने की उम्मीद हैं। बजट पेश करने के दौरान, फडणवीस ने कहा कि किसानों के लिए परिव्यय में 6,900 करोड़ रुपये की वृद्धि की गई है और सरकार की स्वास्थ्य बीमा योजना महात्मा फुले जन आरोग्य योजना का कवरेज 1.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया गया हैं। अब आप 5 लाख रुपए तक का इलाज करा सकते हैं। इसमें 200 नए अस्पताल शामिल किए जाएंगे। किडनी ट्रांसप्लांट सर्जरी का लाभ 2.50 लाख से 4 लाख तक किया गया। राज्य भर में 700 स्व. बालासाहेब ठाकरे का अस्पताल शुरू किये जायेंगे।वहीं, राज्य के स्कूल शिक्षा मंत्री दीपक केसरकर ने विधान परिषद में बजट प्रस्ताव पढ़े। महाराष्ट्र सरकार ने 2030 तक एक ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का लक्ष्य रखा हैं। इस लक्ष्य को हासिल करने के राज्य के आर्थिक विकास को 11 प्रतिशत की दर से बढ़ाना होगा। साथ ही फडणवीस 75,0000 सरकारी पदों को भरने के साथ रोजगार के नए अवसर पैदा करने को लेकर भी घोषणाएं कर सकते हैं। इसके अलावा राज्य में निवेश को बढ़ावा देने के लिए भी नई योजनाओं की घोषणा की जा सकती है। वित्त मंत्री फडणवीस बजट घाटे को कम करने को लेकर भी कदम उठा सकते हैं। क्योंकि पिछले साल महाविकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार की ओर से वित्त मंत्री अजीत पवार ने 24 हजार करोड़ रुपये के घाटे का बजट पेश किया था।महाराष्ट्र विधानसभा में उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दोपहर दो बजे के बाद बजट पेश किया। महाराष्ट्र सरकार के वित्तीय-वर्ष 2023-24 के बजट में वित्त मंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कई बड़े एलान किए हैं। इनमें महिलाओं को बस किराये में 50 प्रतिशत की छूट, किसानों को किसान सम्मान निधि की तर्ज पर छह हजार रुपये सालाना देने और राज्य में 14 नए मेडिकल कॉलेज खोलने जैसी घोषणाएं शामिल हैं।महाराष्ट्र सरकार के बजट में हर व्यक्ति को घर मुहैया करने का एलान किया गया हैं। इस वर्ष 10 लाख घर मुहैया कराने का लक्ष्य रखा गया हैं। अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 3 साल में 10 लाख घरों के लिए ‘मोदी आवास घरकुल योजना’ का क्रियान्वयन होगा। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 4 लाख घर (2.5 लाख आवास अनुसूचित जाति-जनजाति, 1.5 लाख अन्य वर्ग) बनेंगे। रमई आवास के तहत 1.5 लाख घर बनेंगे जिस पर 1800 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसके अंतर्गत मतंग समुदाय के लिए कम से कम 25 हजार घर उपलबध कराए जाएंगे। शबरी, पारधी, आदिम आवास योजना के अंतर्गत 1 लाख घर बनाए जाएंगे इसके लिए 1200 करोड़ रुपये आवंटित किये गए हैं। यशवंतराव चव्हाण फ्री कॉलोनी योजना के तहत 50,000 घर बनेंगे जिस पर 600 करोड़ रुपये खर्च किया जाएगा।बजट में मुंबई के लिए कई परियोजनाओं की घोषणा की गई हैं। 9.2 किमी के मुंबई मेट्रो 10 के लिए जो गायमुख से शिवाजी चौक, मीरा रोड के लिए चलेगी उस पर 4476 करोड़ रुपये खर्च होंगे। मुंबई मेट्रो 11-वडाला से छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस के बीच चलेगी। 12.77 किमी लंबी इस योजना के लिए 8739 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। मुंबई मेट्रो 12-कल्याण से तलोजा के बीच चलेगी। 20.75 किमी की इस परियोजना पर 5865 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसके अलावा नागपुर मेट्रो का दूसरा चरण के लिए 43.80 किमी लंबा होगा उस पर 6708 करोड़ रुपये खर्च होंगे। वहीं पुणे मेट्रो के लिए 8313 करोड़ खर्च का प्रावधान किया गया है। अन्य नई परियोजनाएं के तहत ठाणे सर्कल मेट्रो, नासिक निओ मेट्रो, पुणे मेट्रो के पिंपरी-चिंचवाड़ से निगडी कॉरिडोर और स्वारगेट से कात्रज मेट्रो के विकास पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बजट 2023-24 में सोलापुर को भी सौगात दिया है। बजट में सोलापुर में श्री फूड सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना का एलान किया गया है। इसके लिए 200 करोड़ रुपये का वित्तीय प्रावधान किया गया हैं।लड़कियों के सशक्तिकरण के लिए भी बजट में घोषणा की गई है। बजट के अनुसार लेक लाडकी योजना का कार्यान्वयन अब नए रूप में होगा। इसके तहत पीले और नारंगी रंग के राशन कार्डधारक परिवार की लड़कियों को लाभ दिया जाएगा। इन परिवारों को जन्म के बाद प्रति लड़की 5000 रुपये दिए जायेंगे। पहली कक्षा में पहुंचने पर 4000 रुपये, छठी कक्षा में पहुंचने पर 6000 रुपये जबकि ग्यारहवीं में पहुंचने पर 8000 रुपये दिए जायेंगे। बालिका के 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर 75,000 रुपये दिए जायेंगे। वहीं महिलाओं को बस किराये में 50 प्रतिशत छूट देने की भी बात कही गई हैं।महाराष्ट्र सरकार ने बजट में किसानों के लिए भी कई बड़े ऐलान किए गए हैं। केंद्र सरकार की पीएम किसान सम्मान निधि योजना की तर्ज पर अब महाराष्ट्र में नमो शेतकरी योजना चलाई जाएगी। इसके अंतर्गत किसानों को सालाना 6000 रुपये की राशि दी जाएगी। बता दें कि अभी केंद्र सरकार से किसान सम्मान निधि के तहत किसानों को सालाना 6000 रुपये मिलते हैं। महाराष्ट्र सरकार की इस घोषणा के बाद अब महाराष्ट्र के किसानों को साल में कुल मिलाकर 12 हजार रुपये की नकद राशि मिलेगी।———————————— जैन न्यूज़ —-फागण फेरी छ’गांऊ यात्रा-पालीताणा – रविवार 5 मार्च 2023 फागण शुद्ध तेरस को छ’ गांऊ यात्रा की गई । हजारों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। पालीताणा तीर्थ में बहुत ही सुंदर व्यवस्था की गई थी।बावीस वे तीर्थकर भगवान नेमिनाथ के समय हुए। श्री कृष्ण महाराजा के पुत्रों में शाम्ब और प्रध्युम्न नाम के दो पुत्र थे।नेमीनाथ भगवान की पावन वाणी सुनकर उन दोनों शाम्ब – प्रध्युम्न जी को वैराग्य जाग्रत हुआ और उन्होंने भगवान नेमिनाथ के पास दीक्षा ली व प्रभु की आज्ञा लेकर वे शत्रुंजय गिरिराज उपर तपस्या और ध्यान करने लगे। अपने सभी कर्मो से मुक्त होकर उन्होंने फागण सुदी तेरस के दिन श्री शत्रुंजय गिरिराज पर भाडवा के डुंगर उपर 8.5 करोड़ मुनि भगवंतो के साथ मुनि शाम्ब और प्रध्युम्न को मोक्ष की प्राप्ति हुई थी।उनकी वह मोक्ष यात्रा को स्मरण रखते हुए दर्शन करने के लिए लगभग ८४ हजार वर्षों से यह फागण फेरी की छ’ गाऊ यात्रा चल रही हैं। आज भी हजारों – लाखों की संख्या में श्रद्धालुजन छ’ गाऊ यात्रा करके अपनी कर्मो की निर्जरा करते हैं। यदि जैनी फागण सूद तेरस के दिन पालिताना नहीं जा सके तो उस दिन नजदीक के जैन मंदिर या फिर घर पे ही गिरिराज की भाव यात्रा करते हैं। संपूर्ण भारत और विदेशों में भी शत्रुंजय गिरिराज के पट दर्शन कर भाव यात्रा करते हैं। ठाणे शहर के नजदीक शाहपुर तीर्थ में भी हजारों लोगों ने छ गांऊ फेरी की व पट दर्शन किए। सैकड़ों पाल लगाई गई थी। दिनांक- 5 मार्च रविवार फागण सूद तेरस के पवित्र दिन फागण फेरी 2023 के दिन सभी साधर्मिक श्रद्धालुओं के मानस मंदिर के व्यवस्था हेतु जैन एलर्ट ग्रुप ऑफ इंडिया एवं जैन जागृति सेंटर के द्वारा संयुक्त प्रयास किये गए।‌ठाणा- ठाणे में टैंभी नाका जैन मंदिर में कोकण शत्रुंजय ठाणा की धन्य धरा पर मरुधर रत्न पू. आचार्य देवेश श्रीमद् विजय रत्नसेन सुरीश्वरजी म.सा ने फागण फेरी छः गांव यात्रा व 46 वर्ष के निर्मल संयम जीवन की अनुमोदनार्थ दिनांक 5 मार्च रविवार प्रातः 9:00 बजे प्रवचन दिया। श्री मणिभद्र सभा गृह में सैकड़ों लोग शत्रुंजय पट के दर्शन व गुरु भगवंतो के प्रवचन सुनने पधारे। शंखेश्वर पार्श्वनाथ तीर्थ कासारवडवली में फागण फेरी कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। जैन मंदिर व शत्रुंजय पट के दर्शन करने हेतु सैकड़ों लोग वहां पधारे।स्वामी वात्सल्य भी रखा गया था। जिसके लाभार्थी परिवार शा.उत्तमचंदजी केसरीमलजी, निर्मल,राकेश ढेलरीया वोरा खिंवाड़ा-ठाणा थे। इरोड -फागण सुद तेरस दिनांक 5 मार्च रविवार को फागण की फेरी के उपलक्ष्य में श्री कुंथुनाथ भवन, इरोड-तमिलनाडु में।श्री शत्रुंजय महातीर्थ की संगीतमय भावयात्रा का भव्यतम आयोजन किया गया।रविवार,5मार्च2023 प्रातः ठीक 8.45बजे से यशस्वी सान्निध्य और हृदयस्पर्शी विवेचना की गई।पूज्य धर्म तीर्थ रक्षक, समाज हितचिंतक, आचार्य श्री विमल सागर सूरीश्वरजी महाराज साहब आदि श्रमणवृन्द की पावन निश्रा में।4,500 रुपये के करीब 50 से अधिक लाभार्थी परिवारों की ओर से दीप प्रज्ज्वलन, नैवेद्य पूजा, फल पूजा और पाल (साधर्मिक भक्ति) का कल्याण कारी आयोजन किया गया।संगीतमय सामूहिक आरती की गई।इरोड में अपने तरीके का यह प्रथम आयोजन था।आयोजक- निमंत्रक : श्री कुंथुनाथजी जैन श्वेताम्बर मूर्तिपूजक संघ,इरोड थे। —————————————नासिक-अनहद नाद की शानदार प्रस्तुति-
श्री कलापूर्णम तीर्थ धाम देवलाली (नासिक) में दिनांक 24-2- 23 से 2-3-23 तक अंजन शलाका प्रतिष्ठा महा महोत्सव मनाया जा रहा हैं। अंजनशलाका प्रतिष्ठा की पूर्व संध्या को अनहद नाद के रूप में जिनेश्वर भक्ति श्री जैनम संघवी द्वारा शानदार प्रस्तुति की गई। जिसमें 34 अतिशय धारक प्रभु को जिनशासन के 34 नामी कलाकारों ने भक्ति गीतों द्वारा आदरांजली अर्पित की। भक्ति गीतों का ऐसा समा बांधा कि उपस्थित सात हजार भाविकों को झूमने के लिए मजबूर कर दिया।समर्पणम् परिवार को शासन रत्न एवार्ड दिया गया। श्री कलापूर्ण तीर्थ धाम देवलाली (नासिक) में अंजनशलाका प्रतिष्ठा महोत्सव के अंतर्गत वीर नंदन ने अभिनंदन कार्यक्रम के अंतर्गत जिन शासन के विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट सेवा दे रहे अलग-अलग व्यक्तियों व संस्थाओं की शासन रत्न अवार्ड द्वारा अनुमोदना की गई।सौधर्मबृहत्तपोगच्छीय त्रिस्तुतिक संघ द्वारा अहमदाबाद, सूरत व मुंबई में दीक्षार्थी के उपकरणों के हब( माल) कार्यरत है, जिसमें दीक्षार्थी के मुहूर्त से लगाकर दीक्षा जीवन अपनाने तक की सारी सामग्री किसी भी गच्छ या संप्रदाय के दीक्षार्थी को बिना मूल्य उपहार/ अनुमोदना स्वरूप दी जाती हैं। समयोचित दीक्षार्थी परिवार को गुप्त रूप से आर्थिक सहायता भी करते हैं। उनकी सेवाओं को देखते हुए समर्पणम् परिवार को शासन रत्न एवार्ड से सम्मानित किया गया। जैनम संघवी को कवि रत्न अलंकरण से अलंकृत किया गया। सुश्राविका मीना महेंद्र संघवी शासन रत्ना अलंकरण से सम्मानित की गई।
-जे. के. संघवी (थाने-आहोर)