बीजेपी 3-1, टनल रेस्क्यू, देव दिवाली, जैन न्यूज़

नई दिल्‍ली – इलेक्शन रिजल्ट आ गए हैं तीन राज्यों में बीजेपी की सरकार आ रही हैं। राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में वोटों की गिनती जारी हैं। चारों राज्यों की तस्वीर भी साफ होने लगी हैं।मध्य प्रदेश में बीजेपी दो तिहाई बहुमत और राजस्थान में भी बहुमत के आंकड़े के पार हैं, जबकि छत्तीसगढ़ में रुझानों में बीजेपी के आंकड़े को पार गई हैं।बेशक, तेलंगाना में कांग्रेस सरकार बनाती नज़र आ रही हैं।चार राज्यों के रुझानों के मुताबिक- राजस्थान में 199में बीजेपी 115 कांग्रेस+ 69 सीटों पर और बीएसपी 3 और अन्य 13 सीटों पर आगे चल रहे हैं। मध्य प्रदेश के 230 में रुझानों में बीजेपी 163 और कांग्रेस 66 सीटों पर आगे चल रही  हैं। छत्तीसगढ़ के 90 में रुझानों में बीजेपी 54 और कांग्रेस 35 सीटों पर आगे चल रही हैं। तेलंगाना में119में कांग्रेस+ 64, बीआरएस-39, बीजेपी+ 8और एआईएमआईएम- 6 और अन्य 0 सीट पर आगे चल रहे हैं।मध्य प्रदेश की 230 (बहुमत का आंकड़ा 116), राजस्थान की 200 में 199 (बहुमत का आंकड़ा 100), छत्तीसगढ़ की 90 सीटें (बहुमत का आंकड़ा 46) और तेलंगाना की 119 सीटों (बहुमत का आंकड़ा 60) पर फैसला आ रहा हैं। मिज़ोरम की गिनती सोमवार पर टाल दी गई हैं। राजस्‍थान, छत्तीसगढ़ और मध्‍य प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला है, वहीं तेलंगाना में बीआरएस, कांग्रेस और भाजपा मुकाबले में हैं। मध्य प्रदेश में भाजपा वापस आ रही हैं। राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस अपनी सत्ता गंवा रही हैं। बीजेपी चार राज्यों के चुनाव में 3- 1 से आगे चल रही हैं। गहलोत का भी जादू नहीं चला और हर जगह मोदी- मोदी की गूंज हो रही हैं। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि लाडली बहन योजना व मोदी जी के कारण भारी बहुमत से मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार बन रही हैं।राजस्थान में भाजपा के विजयी उम्मीदवार सुमेरपुर जोराराम कुमावत, सिरोही ओटाराम देवासी बाली पुष्पेंद्र सिंह राणावत।राजस्थान के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) प्रवीण गुप्ता ने बताया कि प्रदेश के 199 विधानसभा क्षेत्रों की मतगणना 33 जिला मुख्यालयों के 36 केन्द्रों पर 3 दिसंबर को सुबह 8 बजे से प्रारंभ हुई। जयपुर, जोधपुर एवं नागौर में दो-दो केंद्रों पर और शेष 30 निर्वाचन जिलों में एक-एक केंद्र पर वोटों की गिनती की गई। राहुल गांधी ने मोदी को पनौती कहा था लेकिन जनता ने बता दिया कि कौन पनौती हैं।——————————————————टनल रेस्‍क्‍यू म‍िशन के ‘असली हीरो’ हैं रैट माइनर्स- नई दिल्ली- ‘बंद जगह में घबराहट नहीं होती… हम लोग इससे कहीं छोटे और संकरे पाइपों में काम कर चुके हैं।’ 800 मिलीमीटर के पाइप में घुसने से पहले प्रसाद लोदी का यह आत्‍म विश्‍वास सब जाहिर कर देता हैं। प्रसाद आला दर्ज के रैट माइनर हैं। वह और उनके जैसे 5 और माइनर्स अपनी जान दांव पर लगाकर उन 41 मजदूरों की जिंदगी बचाने में लगे रहे, जो 12 नवंबर से सिलक्‍यारा सुरंग में फंसे थे। इन रैट माइनर्स का ट्रैक रिकॉर्ड गजब हैं और यह बात साबित भी हो गई। प्रसाद बताते हैं कि वह तो 600mm के पाइप में बैठकर काम कर चुके हैं। उत्तरकाशी टनल रेस्‍क्‍यू में उनकी दिलेरी ने उम्मीदों को पंख दिए हैं। रेस्‍क्‍सू साइट पर उनकी एंट्री कुछ वैसे ही हुई, जैसे फिल्‍म में हीरो की होती हैं। सब मामला फंस जाने पर हीरो आता हैं और सब ठीक कर देता हैं। सिलक्यारा सुरंग निर्माण कंपनी नवयुग सुरंग से वापस आए श्रमवीरों को दो-दो लाख रुपए का मुआवजा देगी।सभी श्रमवीरों को दो माह का वेतन सहित छुटटी भी दी जाएगी। सबसे बड़ी बात यह हैं कि इस बचाव अभियान में शामिल रहे श्रमवीरों को भी दो महीने का बोनस दिया जाएगा। मुख्यमंत्री धामी रेस्क्यू  ऑपरेशन का ध्यान रख रहे थे। उत्तराखंड सरकार पहले ही सिलक्यारा सुरंग में फंसे प्रत्येक श्रमवीर को एक लाख रुपए का मुआवजा, अस्पताल खर्च और आने जाने का किराया दे रही हैं। गुरुवार से श्रमिकों को घर भेजने का काम शुरू हो गया हैं। चिकित्सा जांच के बाद यह बात सामने आई है कि सभी श्रमिक सुरक्षित और सेहतमंद हैं।श्रमवीरों की जान बचाने वाले रैटमाइनर्स को लेकर उत्तराखंड सरकार ने हर रैट माइनर्स को सरकार 50-50 हजार का ईनाम देने का एलान किया हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रैट माइनर्स का धन्यवाद करते हुए मैन्युअल खुदाई करने वालों की भूरि भूरि प्रशंसा की हैं। नवयुग कंपनी भी इन माइनर्स को दो माह का बोनस देने जा रही हैं।श्रमवीरों की जिंदगी बचाने में सबसे बड़ा योगदान रैट माइनर्स का रहा। इन्होंने 21 घंटे में ही 12 मीटर की खुदाई अपने हाथ से ही कर डाली थी। वह भी सिर्फ एक जुगाड़ के माध्यम से। यह वही खुदाई थी जहां आगर मशीन भी आकर फेल हो गई थी। हर प्लेट मशीन की टूट गई थी। जब कोई चारा ही नहीं सूझ रहा था कि अचानक माइनर्स ने बाजी ही पलट दी।मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने आस्था को देखते हुए सुरंग के मुहाने पर ही बाबा बौखनाथ मंदिर बनाए जाने का आदेश जारी कर दिया हैं। स्थानीय लोगों ने सुरंग निर्माण करते समय मंदिर हटाने पर आपत्ति जाहिर की थी। इस आपदा का कारण दैवीय भी बताया गया।12 नवंबर को दीपावली के दिन उत्तरकाशी के सिल्क्यारा सुरंग में मलबा गिरने से 41 मजदूर फंस गए थे। 17 दिनों तक रेस्क्यू ऑपरेशन चला था। इस दौरान विदेशी टनल एक्सपर्ट अर्नोल्ड डिक्स और अमेरिका से ऑगर मशीन मंगाई गई थी। 25 नवंबर को ऑगर मशीन खराब होने के बाद रैट माइनर्स ने मोर्चा संभाला था। 17वें दिन रैट माइनर्स मजदूरों तक पहुंचने में कामयाब हुए थे। मंगलवार को रात सभी मजदूरों को निकाल लिया गया था। सभी मजदूर स्वस्थ हैं। उत्तरकाशी के सिलक्यारा में निर्माणाधीन सुरंग में फंसे 41 मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकालने के अभियान में अमेरिकी ऑगर मशीन भी कुछ घंटों में सामने आई बाधाओं के सामने हांफ गई। ऐसे में रैट माइनर्स की टीम ने अपनी करामाता दिखाई। रेट माइनर्स की खुदाई पर देश में बंदी हैं। अंततः ऑगर मशीन पर मानवीय पंजें भारी पड़े और इनके दम पर 17वें दिन ऑपरेशन सिलक्यारा परवान चढ़ा। आखिरकार झांसी से ग्राउंड जीरो पर पहुंची रैट माइनर्स की टीम ने जैसे-जैसे आगे बढ़ी, उसकी करामात से अभियान के सदस्यों के चेहरों पर चमक दिखने लगी। आखिरकार जहां मशीन हार गई, वहां मानवीय पंजों ने कामयाबी दर्ज की।————-काशी में भव्य देव दिवाली मनाई गई- वाराणसी-देव दीपावली पर नमो घाट से अस्सी घाट की सजावट और आतिशबाजी पर पांच करोड़ खर्च किए गए। देव दीपावली का साक्षी बनने के लिए पहली बार आठ लाख से ज्यादा सैलानी काशी पहुंचे देव दीपावली को राजकीय सम्मान मिलने के बाद हुए पहले आयोजन में प्रशा सन के साथ सभी विभागों ने कमान संभाली। नगर निगम, विकास प्राधिकरण सहित अन्य सरकारी विभागों ने इस आयोजन में अपने खजाने का मुंह खोला। नमो घाट से लेकर अस्सी घाट तक सजावट पर तीन करोड़ रुपये खर्च किए गए।इसके साथ ही पर्यटन विभाग ने दीया, बाती और अन्य आयोजन पर दो करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किया। पहली बार आठ लाख सैलानी देव दीपावली का साक्षी बनने के लिए काशी पहुंचे। सबसे अहम 70 देशों के राजदूतों की मौजूदगी से पूरी दुनिया में इसमहाआयोजन की चर्चा हो रही हैं।राजकीय मेले के रूप में पहली बार सोमवार को यह आयोजन हुआ।जिलाधिकारी एस राजलिंगम ने बताया कि राजकीय मेला घोषित होने के बाद इसके सभी आयोजन में होने वाले खर्च को शासन वहन करेगा।कार्तिका पूर्णिमा के स्नान और देव दीपावली के कारण सोमवार की सुबह चार बजे से लेकर रात 10 बजे के बाद तक शहर की सड़कों पर यातायात का भारी दबाव रहा। कमिश्नरेट की ट्रैफिक पुलिस सड़कों पर सुबह से ही सक्रिय नजर आई, लेकिन श्रद्धालुओं और सैलानियों के हुजूम के कारण यातायात व्यवस्था संबंधी सारे इंतजाम धड़ाम नजर आए। वाराणसी में देव दीपावली पर भव्य उत्सव हो रहा हैं। इस दौरान 12 लाख दीयों से घाट रौशनी में सराबोर रहेंगे। लाखों की संख्या में स्थानीय और बाहरी मेहमान यहां पहुंचे हैं। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी इस भव्य उत्सव का साक्षी बनने के लिए यहां पहुंच गए हैं। सरकार 12 लाख दीपों से घाटों को रोशन कर रही हैं। इनमें एक लाख दीप गाय के गोबर के बने होंगे।सीएम योगी वाराणसी में कार्तिक पूर्णिमा पर देव दीपावली के अवसर पर उपस्थित रहे। उन्होंने विदेशी राजदूतों और डिप्लोमेट्स की मेजबानी की।काशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के बाद पर्यटकों की रिकॉर्ड आमद हुई हैं। देव दीपावली पर होटल, गेस्ट हाउस, नाव, बजड़ा, बोट व क्रूज़ लगभग पहले से बुक व फुल हो गए हैं। सरकार ने चेत सिंह घाट पर लेजर शो कराया।———– ————जैन न्यूज़-आनंद यात्रा दीक्षा – मुम्बई महोत्सव-ठाणे-
मुमुक्षु मोक्ष अशोकजी बोहरा,मुमुक्षु आँचल जितेंद्रजी नागोरी, मुमुक्षु खुशीकुमारी तिलोकचंदजी गाँधीमुथा, मुमुक्षु अदिति मुकेशजी रांका भव तारक निश्रा एवं आनंद यात्रा दीक्षा महोत्सव सारथी – सौधर्म बृहत्त तपा-गच्छाधिपति प.पूज्य आचार्य देवेश श्रीमद्विजय जयानंद सूरीश्वरजी महाराज साहेब आदि अर्धशताधिक श्रमण श्रमणी भगवंत। मुमुक्षु श्री खुशीकुमारी गाँधीमुथा का ठाणे में सम्मान समारोह हुआ।कोंकण पदवीधर आमदार श्री निरंजनजी डावखरे, महाराष्ट्र प्रदेश माजी सचिव संदीप लेले, ठाणे शहर उपाध्यक्ष विक्रमजी भोईर, पूर्व नगरसेविका श्री नम्रताजी कोली द्वारा थाने की लाडली बेटी का सम्मान किया।पंकज एफ. लूनिया ने कार्यक्रम की रूपरेखा।भाजपा ठाणे शहर(जिला) जैन पदाधिका रियों एवं कार्यकर्ताओं ने किया शाही सम्मान।सरस्वती पुत्र, वक्ता एवं जैन शासन रत्न जैनम संघवीजी ने व्यक्त किये उद्गागार।विशेष उपस्थिति : अशोकवडाला, दिलीप शाह, पंकज एफ. लूनिया, परेश शाह, पंकज जैन, परेश जैन, सुशील खींचा, मणिलाल सत्रा, सीमा साँखला, ममता मेहता एवं समता कोठारी।विशेष : दोपहर दो बजे ‘संयम का रंग’ हल्दी कार्यक्रम अंतर्गत मुमुक्षु के संयम अनुमोदना निमित्त थाने श्री संघ के सभी कर्मचारियों का अभिनंदन किया गया।ठाणे की सुपुत्री कुमारी खुशी गांधी मुथा का भव्यथी भव्य वर्षीदान वरघोड़ा थाना में संपन्न हुआ। सैकड़ो लोग वर्षीदान वरघोड़ा में शामिल हुए। वीरती मार्ग के लिए घर से विदाई 26 नवंबर को सुबह 10 बजे हुई। मुमुक्षु खुशीकुमारी गांधी मुथा जैन की दीक्षा शुभ दिन: 29 नवबंर 2023 को मुंबई में गुरुदेव की पावन निश्राः प. पू. आचार्य श्रीमद् विजय जयानंद सूरीश्वरजी म.सा. आदि श्रमण- श्रमणीवृंद की पावन निश्रा में हुई। सकल संघ सादर आमंत्रित थे।आनंद यात्रा दीक्षा महोत्सव दूसरे दिन वर्षीदान वरघोड़ा श्री प्रतीक्षा टॉवर्स जैन संघ से प्रारंभ होकर नवजीवन – श्री कुंथुनाथ जैन संघ – सिटी सेंटर – नागपाडा से होकर गुरु राजेंद्र नगरी, रिचर्डसन में धर्म सभा में परिवर्तित हुआ। विदाई समारोह- शाम 7 बजे, राजेंद्र नगरी, रिचर्डसन में हुआ।निमंत्रक – श्रीमती हुलीदेवी बोडमलजी बोहरा परिवार,श्रीमती शांतिदेवी तेजराजजी नागोरी परिवार,श्रीमतीचौथीदेवी हिंमाजी गांधीमुथा परिवार,श्रीमती सुकीदेवी रानमलजी रांका परिवार थे। दीक्षा और वर्षीदान के कार्यक्रम में सैकड़ो लोग शामिल हुए।